Study Govts Result In

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023: राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 के लिए आवेदन शुरू, यहां से जाने पूरी जानकारी

By Studygovtsresult - Jan 06,2024
Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023: राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 के लिए आवेदन शुरू, यहां से जाने पूरी जानकारी

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 – Overview

Name of post :Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023
Location :India

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023: राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 के लिए आवेदन शुरू, यहां से जाने पूरी जानकारी

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023: नमस्कार दोस्तों,राजस्थान में इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना 2023 शुरू की गई है। राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 सभी जिलों की महिलाओं के लिए लागू की गई है। राजस्थान सरकार ने गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं और बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण की स्थिति में सुधार के लिए इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना शुरू की है। इंदिरा गांधी मातृत्व पोषण योजना 2023 का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों का पालन करते हुए राजस्थान से कुपोषण को खत्म करना है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 उद्देश्य

राजस्थान Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 का मुख्य उद्देश्य गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं और 3 वर्ष तक के बच्चों के स्वास्थ्य और पोषण की स्थिति में सुधार करके जन्म के समय कम वजन और कमजोर वजन की घटनाओं को कम करना है। इंदिरा गांधी मातृत्व योजना का उद्देश्य राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के प्रावधानों के अनुपालन के साथ-साथ राजस्थान सरकार की कुपोषण निवारण रणनीति 'सुपोषित राजस्थान विजन 2022' के लक्ष्य को पूरा करने के लिए सामाजिक और व्यवहारिक परिवर्तन संचार रणनीति को अपनाना है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana  19 नवंबर 2020 को मुख्यमंत्री द्वारा शुरू की गई थी। वर्ष 2020-21 की बजट घोषणा में मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने इस योजना को आदिवासी जिलों प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर और बारां में शुरू किया था। फिर 1 अप्रैल 2022 से यह योजना राजस्थान के सभी जिलों के लिए लागू कर दी गई है। इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना के तहत राजस्थान की 3 लाख 50 हजार गर्भवती महिलाएं हर साल इसका लाभ उठा सकती हैं। इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना के तहत दूसरे बच्चे के जन्म पर लाभार्थी को पांच किस्तों में 6000 रुपये का नकद लाभ दिया जाता है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 योजना का क्षेत्र

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 - आपको बता दे की राजस्थान इंदिरा गांधी मातृत्व योजना प्रारंभ में 5 जिलों (प्रतापगढ़, डूंगरपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर और बारां) में लागू की गई थी। इंदिरा गांधी मातृत्व योजना 2023 वर्तमान में सभी जिलों में लागू कर दी गई है।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 लाभ

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 के तहत दूसरे बच्चे के जन्म पर लाभार्थियों को निम्नलिखित पांच चरणों में 6000 रुपये का नकद लाभ दिया जाएगा। यह राशि सीधे लाभार्थी के खाते में जमा की जाएगी।

किस्त

शर्तें

राशि

प्रथम

गर्भावस्था परीक्षण और पंजीकरण (एएनसी और पंजीकरण) पर (यदि पंजीकरण अंतिम मासिक धर्म तिथि से 120 दिनों के भीतर किया जाता है)

1000

द्वितीय

कम से कम 2 प्रसवपूर्व जांच (एएनसी) पूरा करना (गर्भावस्था के 6 महीने के भीतर)

1000

तृतीय

बच्चों के जन्म पर

1000

 

(निर्धारित संस्था में संस्थागत प्रसव पर)

 

चतुर्थ

जब बच्चों को 3.5 माह (105 दिन) की आयु तक सभी नियमित टीकाकरण प्राप्त हो गए हों और नवजात शिशु का जन्म पंजीकरण (टीकाकरण के तहत, बच्चों को बीसीजी, ओपीवी, डीपीटी और हेपेटाइटिस-बी या इसके समकक्ष की पहली खुराक मिल गई हो)

2000

पांचवीं

द्वितीय संतान के उपरांत दंपत्ति द्वारा यदि महिला स्थायी परिवार नियोजन विधि साधन अपनाने या बच्चे के जन्म के तीन महीने के भीतर कॉपर टी लगवाती है।

1000

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 Required Documents

  1. ममता कार्ड की फोटो कॉपी
  2. जन आधार कार्ड
  3. आधार कार्ड
  4. बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
  5. पासपोर्ट साइज फोटो
  6. मोबाइल नंबर।

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 आवेदन प्रक्रिया

Indira Gandhi Matritva Poshan Yojana 2023 का लाभ उठाने के लिए महिलाएं अपनी आंगनवाड़ी कार्यकर्ता/सहायिका की मदद ले सकती हैं। इंदिरा गांधी मातृ पोषण योजना 2023 के लिए लाभार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। चयन प्रक्रिया भी ऑनलाइन होगी। इसके लिए एकीकृत बाल विकास सेवा निदेशालय के तहत एक पोर्टल विकसित किया गया है। उत्तर की प्रति को आवश्यकतानुसार आंगनबाडी कार्यकर्ता अथवा आशा सहयोगिनी से सत्यापित करवाकर चरणबद्ध तरीके से निर्धारित राशि का भुगतान करने की व्यवस्था की जाएगी। लाभार्थी को राशि का भुगतान उसके जन आधार से जुड़े व्यक्तिगत बैंक खाते में किया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए ऑफिसियल वेबसाइट पर जाये।